डॉ.महेंद्र राणा ने अरुणाचल में उद्यमिता विकास पर साझा की महत्वपूर्ण जानकारी, एनआईटी में किया प्रतिभाग

नैनीताल। लाइव उत्तरांचल न्यूज

व्हाट्सएप पर लाइव उत्तरांचल न्यूज के नियमित समाचार प्राप्त करने व हमसे संपर्क करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें
https://chat.whatsapp.com/BhBYO0h8KgnKbhMhr80F5i

कुमाऊं विवि के सरजेसी बोस तकनीकी परिसर भीमताल के सहायक प्राध्यापक डा. महेंद्र राणा ने अरुणाचल प्रदेश के एनआईटी में हुए प्रशिक्षण कार्यक्रम में विषय विशेषज्ञ के रूप में प्रतिभाग किया। इस दौरान उन्होंने क्षेत्र के काश्तकारों, छात्रों व जनजातीय समूह के प्रतिनिधियों को प्रशिक्षण दिया।
डा. राणा ने बताया कि प्रतिभागियों को कैप्सूल , टेबलेट, सीरप व सैनिटाइजर बनाने की विधि आदि का प्रशिक्षण दिया गया। कार्यक्रम संयोजक डा. पल्लवी कलिता ने कार्यक्रम की रुपरेखा तय की। उन्होंने कहा कि पहाड़ी राज्यों में इस तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम में रोजगार के नये संसाधनों को लोगों तक पहुंचाने में मददगार साबित होते हैं। कार्यशाला को संबोधित करते हुए डा. राणा ने कहा कि उत्तराखण्ड व अरुणाचल दोनों राज्यों में प्रचूर मात्रा में प्राकृतिक संपदा उपलब्ध है। राज्य सरकारों की मदद से इस तरह के कार्यक्रम प्रत्येक पहाड़ी राज्यों में आयोजित किये जाने की आवश्यकता है। इस दौरान उन्होंने एनआईटी निदेशक प्रो. महनता से मुलाकात कर कुमाऊं विवि व एनआईटी अरुणाचल प्रदेश के मध्य शोध, छात्रों के आदान प्रदान कार्यक्रम एवं प्रसार कार्यक्रम संचालित किए जाने के लिए भी सकारात्मक चर्चा की।
प्रशिक्षण पाने वालों में डा. एलआर भुईयां, वेदकांता महंता, मानवेंद्र कलिता, संजीव दास, हगेई यांका, आतेक नंगकर, संजीव नाथ, मोमंग तरम, रूबू रान्यो, गीता प्रधान, देवेंद्र, निहाल सुमन, समदिर माई, दीपक दास, ख्योदा राजन, अंजनी बेलाई आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: