मातृभाषा में शिक्षा हासिल करने की सुविधा नई शिक्षा नीति का अहम प्राविधानः बेबी रानी मोर्य, पीआरएसआई के उत्तराखंड चैप्टर के पदाधिकारियों की राज्यपाल से भेंट

व्हाट्सएप पर लाइव उत्तरांचल न्यूज के नियमित समाचार प्राप्त करने व हमसे संपर्क करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें
https://chat.whatsapp.com/BhBYO0h8KgnKbhMhr80F5i  

देहरादून। लाइव उत्तरांचल न्यूज

पब्लिक रिलेशन सोसाइटी ऑफ इंडिया (पीआरएसआई) के उत्तराखंड चैप्टर के पदाधिकारियों ने शुक्रवार को राज्यपाल बेबी रानी मौर्य से भेंट की। राज्यपाल को नई शिक्षा नीति पर आधारित पुस्तक ‘‘नवयुग का अभिनंदन’’ भेंट की गई। सोसाइटी की ओर से प्रकाशित इस पुस्तक में राज्यपाल मौर्य का लेख भी है।


राज्यपाल मौर्य ने इस मौके पर कहा कि मातृभाषा में शिक्षा प्रदान करने का निर्णय नई शिक्षा नीति की सबसे महत्वपूर्ण बात है। नई शिक्षा नीति का उद्देश्य विद्यार्थियों में नैतिक मूल्यों का विकास, वैज्ञानिक दृष्टिकोण का संवर्द्धन तथा शोध अनुसंधान तथा नवाचार के लिए प्रेरणा देना है। राज्यपाल ने कहा कि कोरोना लॉकडाउन में भारतीय शिक्षण संस्थानों ने ऑनलाइन शिक्षा को जिस प्रकार अपनाया, उससे सिद्ध हो जाता है, कि हमारी शिक्षा प्रणाली नवाचार के लिये तैयार है।

राज्यपाल ने कहा कि प्रदेश में नई शिक्षा नीति के सफल क्रियान्वयन के लिए वे स्वयं कई बैठकें कर चुकी है। प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा विभाग को इस के लिए ठोस कार्ययोजना बनाने के निर्देश भी दिये गये है। विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को भी नई शिक्षा नीति की कार्ययोजना तथा प्रभावी क्रियान्वयन के लिए की गई कार्यवाही की जानकारी प्रेषित करने को कहा गया है।
सोसाइटी के प्रयासों की सराहना करते हुए राज्यपाल मौर्य ने बच्चों के कल्याण एवं शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि बच्चों को उनके व्यक्तिगत विकास के समुचित अवसर मिलने चाहिये। बच्चों को बड़े सपने देखने के लिये प्रेरित करें।

उप निदेशक सूचना नितिन उपाध्याय ने उत्तराखंड चैप्टर का संक्षिप्त परिचय दिया। उन्होंने कहा कि पीआरएसआई जनसंपर्क कार्य से जुड़े लोगो का संगठन है, जिसके पूरे देश में राज्य स्तर पर चैप्टर स्थापित किये गये है। उत्तराखंड चैप्टर द्वारा जनसंपर्क कार्यों की दिशा में प्रभावी कार्य किया जा रहा है।

इस अवसर पर पब्लिक रिलेशन सोसाइटी ऑफ इंडिया के उत्तराखंड चैप्टर के अध्यक्ष अमित पोखरियाल ने बताया कि चैप्टर द्वारा राज्य एवं केन्द्र सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। इसी कड़ी में नई शिक्षा नीति पर देशभर के विद्धानों एवं शिक्षाविदों के विचार एवं प्रतिक्रिया को संकलित कर पुस्तक का प्रकाशन किया गया है, जिसका विगत दिनों नई दिल्ली में केन्द्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक द्वारा वर्चुअल विमोचन किया गया। कोरोना काल में भी चैप्टर द्वारा राज्यपाल द्वारा प्रदान किये गये मास्क एवं सैनिटाइजर का वितरण किया गया।

इस अवसर पर पब्लिक रिलेशन सोसाइटी ऑफ इंडिया के उत्तराखण्ड चैप्टर के सचिव अनिल सती, कोषाध्यक्ष सुरेश चंद्र भट्ट, संयुक्त सचिव राकेश डोभाल आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: