इंद्रमणि बडौनी पहाड़ की जीवटता के प्रतीक थेः जंतवाल, पहाड़ के गांधी को पुण्यतिथि पर किया याद

नैनीताल। लाइव उत्तरांचल न्यूज

 इंद्रमणि बडौनी

उत्तराखंड के गांधी स्व.इंद्रमणि बडौनी की 21 वीं पुण्यतिथि पर उक्रांद कार्यकर्ताओं ने उन्हें याद किया। पूर्व अध्यक्ष व विधायक रहे डा. नारायण सिंह जंतवाल ने इस मौके पर स्व. बडौनी के जीवनवृत पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि बडौनी का आचार व्यवहार, बोली, भाषा पहनावा सादगी भरा था। उनको कठिन जीवन शैली पसंद थी वहीं वे पहाड़ की जीवटता के प्रतीक थे। राज्य  आंदोलन को प्रजातांत्रिक स्वरूप देने में उक्रांद के बतौर  संरक्षक उनकी अहम भूमिका रही।  बडौनी ग्राम प्रधान व  ब्लॉक प्रमुख रहे। वहीं उत्तरप्रदेश  विधानसभा में तीन बार विधायक रहे। इसके बावजूद उनका रहन सहन आम उत्तराखंडी जैसा बना रहा।

 डा. जंतवाल ने कहा कि पार्टी के हम जैसे कार्यकर्ताओं को  उनके साथ कार्य करने सौभाग्य मिला। हर परिस्थिति में धैर्य बनाए रखने की उनकी कला हम सब के लिए प्रेरणास्रोत बनी रही। उन्होंने नैनीताल में भी शिक्षा ली थी यहां से उनका खासा लगाव बना रहा। उक्रांद के वयोवृद्ध नेता नवीन चंद्र साह उनके अखोणी के ब्लॉक प्रमुख रहने के दौरान उस क्षेत्र में बतौर शिक्षाधिकारी तैनात रहे हैं। साह आज भी उनके कार्यशैली को कायल हैं। डा. जंतवाल ने कहा कि आज  उनकी प्रासंगिकता बहुत बढ़ गई है।  सामाजिक राजनीतिक क्षेत्र में कार्यरत हमारे साथियों का उत्तरदायित्व और  अधिक बढ़ गया है!  बडौनी की पुण्यतिथि पर  हम सभी को यह संकल्प करना होगा कि उत्तराखण्ड के सामाजिक राजनीतिक विमर्श में बडौनी के विचारों के अनुरूप विचारों की विराटता व उच्च लोकतांत्रिक मूल्यों का समावेश कर  देश को नूतन संदेश देकर  उन्हें  सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करें। इस मौके पर अधिवक्ता प्रकाश पांडे, कमलेश पांडे आदि मौजूद रहे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: