डा. हृदयेश के जाने से प्रदेश राजनीति में आए सूनेपन की भरपाई कर पाना बेहद कठिन: डा. नारायण सिंह जंतवाल

नैनीताल। लाइव उत्तरांचल न्यूज


उत्तराखण्ड राजनीति में सबसे अनुभवी नेता के रुप में अपनी विशेष पहचान रखने वाली नेता प्रतिपक्ष डा. हृदयेश का यूं अचानक चले जाना उस सूनेपन का अहसास करा गया है जिसकी भरपाई कर पाना बेहद कठिन है। वे एक ऐसी शख्सियत थी जो हमेशा अतीत के मूल्यों को वर्तमान से जोड़कर मार्ग प्रशस्त करती रही।
इन शब्दों के साथ पूर्व विधायक डा. नारायण सिंह जंतवाल ने डा. हृदयेश को भावभीनी श्रद्धाजंलि दी है।। लाइव उत्तरांचल न्यूज को उपलब्ध कराये श्रद्धाजंलि पत्र में डा. जंतवाल ने कहा कि वह प्रदेश की सबसे अनुभवी नेता थी। अपने अनुभव का कौशल उन्होंने यूपी में रहते हुए भी दिखाया। विश्वविद्यालय की छात्र राजनीति में सक्रियता के दौर से उनके साथ परिचय हुआ। प्रदेश की पहली निर्वाचित विधानसभा में नारायण दत्त तिवारी सरकार में वे सर्वाधिक महत्वपूर्ण मंत्री थी। संसदीय कार्य मंत्री होने के नाते भी सरकार की ओर से अधिकांशतः मोर्चा वही सभालती थी। उनका संसदीय ज्ञान व कौशल उत्कृष्ट कोटि का था। उस दौर में सदन में जबरदस्त चर्चायें होती थी। सरकार की उपलब्धियों का बेहद शालीनता व दृढ़ता के साथ प्रस्तुतीकरण सदन को हमेशा प्रभावित करता था। विपक्षी दल का विधायक होते हुए भी उनका स्नेह व हौसला अफ़ज़ाई मिलती रही। उनके कार्य व व्यवहार हमेशा याद रहेंगे।

व्हाट्सएप पर लाइव उत्तरांचल न्यूज के नियमित समाचार प्राप्त करने व हमसे संपर्क करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें
https://chat.whatsapp.com/BhBYO0h8KgnKbhMhr80F5i

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: