नैनीताल निवासी प्रो. राजीव मोहन पंत बने असम में कुलपति, डीएसबी परिसर के पूर्व छात्र रहे हैं पंत

Spread the love


नैनीताल। लाइव उत्तरांचल न्यूज


नैनीताल निवासी प्रो. राजीव मोहन पंत को असम विवि में अहम जिम्मेदारी मिली है। उन्हें असम के सिलचार केंद्रीय विवि का कुलपति नियुक्ति किया गया है। वह डीएसबी परिसर के पूर्व छात्र रहे हैं।
उनकी इस उपलब्धि पर डीएसबी परिसर में खुसी की लहर है। कुविवि शिक्षक संघ कूटा के अध्यक्ष प्रो. ललित तिवारी ने इसकी जानकारी दी। उन्होने बताया कि प्रो. पंत वर्ष 1980 में पासआउट हुए हैं। साथ ही वह बिरला इंस्टीट्यूट आफ अप्लाइड सांससेस भीमताल में लेक्चर तथा नॉर्थ ईस्टर्न रीजनल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस में एसोसिएट प्रोफेसर तथा प्रोफेसर के पद पर भी कार्यरत रहे हैं। उन्होंने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रूरल डेवलपमेंट में निदेशक की जिम्मेदारी बखूबी निभाई है। कूटा ने इसे समूचे प्रदेश के लिए बड़ी उपलब्धि बताया है। कूटा के डा. विजय कुमार, डा.सुहैल जावेद, डॉ.दीपिका गोस्वामी, डॉ.दीपक कुमार, डॉ.पैनी जोशी, डॉ.प्रदीप कुमार, डॉ.सीमा चौहान, डॉ.गगन होती, डॉ.रीतेश साह, डॉ.युगल जोशी, डॉ.ललित मोहन आदि ने उन्हें बधाई दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.