सूखाताल झील के सौंदर्यीकरण कार्य में आपसी समन्वय से तेजी लायें संबंधित विभाग: कुमाऊं आयुक्त एएस ह्यांकी

नैनीताल। लाइव उत्तरांचल न्यूज


कुमाऊं आयुक्त एएस ह्यांकी ने बुधवार को सूखाताल झील के विकास व सौंदर्यीकरण कार्यों की समीक्षा की। जिला विकास प्राधिकरण सभागार में आयेाजित हुई बैठक में उन्होंने संबंधित विभागों से आपसी समन्वय स्थापित करते कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए।
आयुक्त ह्यांकी ने सूखाताल झील के सौन्दर्यकरण एवं विकास हेतु किये जा रहे कार्यों की समीक्षा के दौरान निर्देश देते हुए कहा कि सभी विभागीय अधिकारी व कर्मचारी आपसी तालमेल से कार्य करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सूखाताल का सौन्दर्यकरण नैनीताल शहर के लिए पर्यटन दृष्टि से भी महत्वपूर्ण कार्य है, इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। प्रोजैक्ट की निगरानी पूरी गहतना से की जायेगी। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि सूखाताल के विकास से सम्बन्धित कार्यों को सम्बन्धित विभागों के माध्यम से पूरा कराया जाये ताकि भविष्य में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। उन्होंने सूखाताल में बोरवेल करने का कार्य जल संस्थान से कराने के निर्देश केएमवीएन के अधिकारियों को दिये। उन्होंने जल संस्थान के अधिकारियों को तुरन्त डीपीआर उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने विद्युत से सम्बन्धित कार्य विद्युत विभाग से कराने तथा विद्युत सम्बन्धी कार्यों की डीपीआर तुरन्त उपलब्ध कराने के निर्देश अधिशासी अभियंता विद्युत को दिये। उन्होंने केएमवीएन के अधिकारियों को डीपीआर प्राप्ति के तीन दिन के भीतर आगणन पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होंने सातताल में प्रस्तावित सौन्दर्यकरण एवं विकास परियोजना की विस्तृत जानकारी क्षेत्रीय विधायक तथा विभागीय मंत्री को उपलब्ध कराने के निर्देश प्राधिकरण के अधिकारियों को दिये। उन्होंने कार्मिकों के आवास निर्माण हेतु विभिन्न स्थानों भूमि चिन्हित करने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होंने माल रोड स्थित लाईब्रेरी में गुणवत्तायुक्त फर्नीचर लगवाने, मल्लीताल पन्त पार्क स्थित फव्वारे को सही से संचालित करने, जूमलैण्ड से अनावश्यक मटेरियल का उचित निस्तारण करने के निर्देश अधिशासी अधिकारी नगर पालिका को दिये। उन्होंने शहर में अव्यवस्थित ढंग से लगे तथा भद्दे साइनेज को तत्काल हटवाने के निर्देश उप जिलाधिकारी तथा अधिशासी अधिकारी को दिये। इसके साथ ही श्री ह्यांकी ने महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को दिये।
बैठक में डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल, प्रबन्ध निदेशक केएमवीएन एवं उपाध्यक्ष जिला विकास प्राधिकरण नरेन्द्र सिंह भण्डारी, संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रतीक जैन, सचिव जिला विकास प्राधिकरण पंकज उपाध्याय, महाप्रबन्धक केएमवीएन एपी वाजपेयी, जिला पर्यटन विकास अधिकारी अरविन्द गौड़, अधिशासी अभियंता लोनिवि डीके गुप्ता, एबी काण्डपाल, अधिशासी अभियंता जल संस्थान संतोष उपाध्याय, अधिशासी अभियंता विद्युत हारून रशीद आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: