ऐसा कोरोनाकाल में ही संभव: दुल्हा नहीं, दुल्हन लेकर पहुंची बारात, दुल्हे के घर में हुए फेरे

चंपावत। लाइव उत्तरांचल न्यूज

कोरोना न जाने अभी कितने और रंग दिखाएगा। कहीं शादियां बगैर रौनक के हो रही हैं तो कहीं पीपीई किट पहनकर पंडित जी दुल्हा—दुल्हन को फेरे करवा रहे हैं। कहीं दुल्हन का स्वागत होम आइसोलेशन कराकर हो रहा है।

व्हाट्सएप पर लाइव उत्तरांचल न्यूज के नियमित समाचार प्राप्त करने व हमसे संपर्क करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें
https://chat.whatsapp.com/BhBYO0h8KgnKbhMhr80F5


सीमांत जनपद चंपावत में भी बुधवार को कुछ ऐसा ही देखने को मिला। जहां दुल्हन ने नहीं , दुल्हे ने बारात का इंतजार किया। शादी के लिए दुल्हन को दुल्हे के घर आना पड़ा। यहीं पारंपरिक विधि विधान से दोनों का पाणिग्रहण संस्कार संपन्न हुआ। दरअसल, दूल्हे के गांव स्वाला को बीते मंगलवार को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित कर दिया था। इस वजह से पहले से तय इस विवाह को संपन्न कराने में असमंजस की स्थिति पैंदा हो गई। प्रशाासन से सलाह मशवरा करने के बाद दुल्हन को ही दुल्हे के गांव पहुंचकर शादी कराने पर सहमति बनी। चार लोगों के साथ दुल्हन दुल्हे के गांव पहुंची।

यहां गांव में पिछले दिनों 47 लोग कोविड संक्रमित मिले थे जिसके बाद गांव को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित करना पड़ा। स्वाला गांव के डुंगर देव के बेटे प्रकाश भट्ट की शादी 12 मई को पुनाबे निवासी रमेश बिनवाल की बेटी प्रियंका के साथ पूर्व में तय हो चुकी थी। तहसीलदार ज्योति धपवाल ने बताया दुल्हन के मां, पिता और पुरोहित को पुनाबे गांव में लौटकर होम आइसोलेशन में रहने के निर्देश दिए गए हैं।

व्हाट्सएप पर लाइव उत्तरांचल न्यूज के नियमित समाचार प्राप्त करने व हमसे संपर्क करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें
https://chat.whatsapp.com/BhBYO0h8KgnKbhMhr80F5

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: